Alkane By Kumar Santosh Sir

सिल्वर नाइट्रेट के माध्यम से एल्काइल बोरेन्स का युग्मनAlkane By Kumar Santosh Sir.एल्केन संतृप्त हाइड्रोकार्बन होता हैं जिसमे कार्बन-कार्बन एकल बंध पाया जाता हैं।यह कम क्रियाशील होते हैं से पैराफिन से पुकारते हैं।क्योंकि यह नार्मल कंडीशन के अन्दर एसिड,बेसेस आक्सीकारक और अपचायक एजेंट के साथ रिएक्शन नहीं करता हैं।

GENERAL FORMULA:-  CnH2n+2

EXAMPLE:-CH4,C2H6,C3H8

Contents hide
1 Alkane By Kumar Santosh Sir
1.1 (1) बनाने की सामान्य विधि

Alkane By Kumar Santosh Sir

(1) बनाने की सामान्य विधि

(i) एल्कीन और एल्काइन के कैटेलिटिक हाइड्रोजनीकरण के द्वारा (शेबेटियर सेन्डरसन रिएक्शन )

CnH2n + H2 —–Ni/Heat—>CnH2n+2

CnH2n-2 + 2H2 —–Ni/Heat—->CnH2n+2

[नोट:- इस विधि के द्वारा मीथेन नहीं बनाया जाता हैं।]

(ii) बर्च रिडक्शन (Birch Reduction)

R–CH=CH2——-Na/NH3/CH3OH—–>R-CH2–CH3

(iii) एल्कील हैलाईड

(a) रिडक्शन से

RX  + H2 ——–Zn/HCl—–> RH+HX

(b) प्लैटिनम/लैड  की उपस्थिति में हाइड्रोजन के साथ

RX +2HI ——–Pt/Pb—–>RH+HX

(c) रेड फॉस्फोरस  की उपस्थिति में हाइड्रोजन आयोडाइड  के साथ

RBr +2HI ——->RH+HBr+I2

(iv) Zn-Cu couple द्वारा

2CH3CH2OH  + Zn(Zn-Cu Couple)———Cu—->(CH3CH2O)2Zn+2H

RX + 2H——->RH +HX

(v) Wurtz reaction

RX +2Na +XR——dry ether—->R-R’  +2NaX

R-Br या RI को इस रिएक्शन के लिए यूज़ किया जाता हैं ।कुल मिलकर परिणाम यह निकलता हैं कि इस रिएक्शन में अणु  में कार्बन एटम के इवन नंबर का फार्मेशन होता हैं।

(vi ) फ्रेंक लैंड अभिक्रिया

2RX + Zn ——–>R—-R + ZnX2

(vii) कोरे हाउस सिंथेसिस

2CH3-CH2-Cl——Li/CuI—–>(CH3-CH2)2 LiCu ———CH3-CH2-Cl—->CH3-CH2-CH2-CH3

एल्केन के विषम संख्या  के लिए यह रिएक्शन सूटेबल हैं।

(viii) ग्रिगनार्ड रेअजेंट से

(a) एसिडिक H के एक्शन द्वारा

RMgX(एल्कील मैग्नीशियम हैलाईड)+HOH(जल)———–>RH(एल्केन)+Mg(OH)X

(b) एल्कील हैलाईड के साथ रिएक्शन द्वारा

R—X +R’MgX ———>R—-R +MgX2

(ix) कार्बोक्सिलिक अम्ल से

(a) लैब विधि  [डीकार्बोक्सीलेसन रिएक्शन या ड्यूमा रिएक्शन ]

RCOONa  +NaOH ——-HEAT/CaO—>R-H(एल्केन)+Na2CO3

सोडा लाइम (NaOH +CaO) का अनुपात 3:1 हैं

(b) कोल्बे सिंथेसिस
Alkane By Kumar Santosh Sir
Alkane By Kumar Santosh Sir

आयनिक और मुक्त मूलक क्रियाविधि दोनों इस अभिक्रिया में शामिल होती हैं।

(c)कार्बोक्सीलिक का  अपचयन

CH3COOH +6HI —-अपचयन/रेड(200°C)—–>CH3CH3 +2H2O +3I2

(x) अल्कोहल,एल्डिहाइड,कीटोन or एसिड व्युत्पन्न के अपचयन से

CH3OH(मेथनॉल) + 2HI —-रेड P/150°C—–>CH4(मीथेन)+ H2O +3I2

CH3CHO(एसीटैल्डिहाइड)+4HI —-रेड P/150°C—>C2H6+H2O+2 I 2

CH3COCH3 (एसीटोन) +4HI —-रेड P/150°C—>CH3CH2CH3 +H2O+2I2

CH3COCl(ACETYL CHLORIDE) +6HI —-रेड P/200°C—>CH3-CH3 +H2O+HCl+3I2

CH3CONH2(एसीटामाइड)+6HI —-रेड P/200°C—>CH3CH3 +H2O +NH3+3I2

एल्डिहाइड और कीटोन को जब अमलगम जिंक और सान्द्र HCl के साथ अपचयित किया जाता हैं तो एल्केन की मात्रा प्राप्त होती हैं।

क्लेमेंसेन रिडक्शन

CH3CHO(एसीटैल्डिहाइड) +4H ——-Zn -Mg/CONC.HCl—–>CH3-CH3 +H2O

CH3COCH3 (ACETONE) +4H —–Zn-Hg/CONC. HCl->CH3CH2CH3+H2O

वोल्फ-किशनर रिडक्शन

एल्डिहाइड और कीटोन (>C=O)को जब हाईड्राजीन और सोडियम एल्का ऑक्साइड की अधिकता में गर्म किया जाता हैं यह हाइड्रोकार्बन में अपचयितहो जाता हैं।

(x) एल्कीन का हाइड्रोबोरेसन

(a )डाईबोरेन (B2H6) को ओलेफिनिक बांड के साथ ऐड करने पर ट्राईएल्कील बोरेन बनता हैं जो एसिटिक अम्ल के साथ रिएक्शन करने पर एल्केन प्राप्त होता हैं ।

R—-CH=CH2—–B2H6—-> (R—CH2-CH2)3B—–CH3COOH/H+–>R–CH2-CH3(एल्केन)

इस विधि से मीथेन नहीं बनता

(b) सिल्वर नाइट्रेट के माध्यम से एल्काइल बोरेन्स का युग्मन

6[R—CH=CH2]—-2B2H6–>[2R–CH2-CH2-]3 B——-AgNO3/25°C[H+]—->3[RCH2CH2-CH2CH2R]

(2) फिजिकल प्रॉपर्टीस

(i) फिजिकल स्टेट:

एल्केन कलरलेस,गंधमुक्त,स्वादहीन.

एल्केन           स्टेट

C1-C4         गैसीय स्टेट

C5-C17       द्रवीय अवस्था [नियो पैंटेन को छोड़कर यह गैस हैं]

C18  &  above    सॉलिड लाइक वेक्सेस

(ii) घनत्व:

एल्केन वाटर से हल्का होता हैं

(iii) घुलनशीलता:

वाटर में अघुलनशील,आर्गेनिक साल्वेंट में घुलनशील,

Solubility ∝  1/आणविक द्रव्यमान

(iv) गलनांक और क्वथनांक :

मेल्टिंग पॉइंट और बोइलिंग पॉइंट,

 

इस वेबसाइट पर बी.एससी. प्रथम से लेकर बी.एससी. तृतीय वर्ष chemistry के सारे टॉपिक और प्रैक्टिकल, आल सिलेबस,इम्पोर्टेन्ट प्रशन,सैंपल पेपर, नोट्स chemistry QUIZ मिलेंगे.B.SC.प्रथम वर्ष से लेकर तृतीय वर्ष तक के 20-20 QUESTION के हल मिलेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*