calculate the concentration of nitric acid 2023 Useful

calculate the concentration of nitric acid.नाइट्रिक एसिड (HNO3) की सांद्रता की गणना करने के लिए, हमें विशिष्ट स्थिति के बारे में अधिक जानकारी की आवश्यकता है। सांद्रण को विभिन्न तरीकों से व्यक्त किया जा सकता है, जैसे मोलरिटी (प्रति लीटर घोल में घुलनशील पदार्थ के मोल), द्रव्यमान प्रतिशत, या आयतन प्रतिशत।

calculate the concentration of nitric acid

नाइट्रिक एसिड की मात्रा (मोल्स या ग्राम में)।
घोल की मात्रा (लीटर में)।
वांछित एकाग्रता इकाई (उदाहरण के लिए, मोलरिटी, द्रव्यमान प्रतिशत)।

उदाहरण:
घोल बनाने के लिए आपके पास 50 ग्राम नाइट्रिक एसिड (HNO3) पानी में घुला हुआ है। आप घोल में नाइट्रिक एसिड की द्रव्यमान प्रतिशत सांद्रता की गणना करना चाहते हैं।

समाधान:
नाइट्रिक एसिड का द्रव्यमान (HNO3) = 50 ग्राम
घोल का कुल द्रव्यमान = 50 ग्राम (चूंकि केवल नाइट्रिक एसिड घुला हुआ है)

द्रव्यमान प्रतिशत सांद्रता = (विलेय का द्रव्यमान / घोल का कुल द्रव्यमान) * 100

calculate the concentration of nitric acid

मानों को प्रतिस्थापित करें:
द्रव्यमान प्रतिशत सांद्रता = (50 ग्राम / 50 ग्राम) * 100 = 100%

इस उदाहरण में, घोल में नाइट्रिक एसिड की द्रव्यमान प्रतिशत सांद्रता 100% है।

कृपया ध्यान दें कि यह उदाहरण मानता है कि संपूर्ण 50 ग्राम नाइट्रिक एसिड घोल में घुल जाता है और विलायक (पानी) के साथ प्रतिक्रिया नहीं करता है। इसके अतिरिक्त, वास्तविक समाधानों में विलेय और विलायक अणुओं के बीच परस्पर क्रिया या विलेय के पृथक्करण जैसे कारकों के कारण भिन्न व्यवहार हो सकते हैं।

calculate the concentration of nitric acid

नाइट्रिक अम्ल (HNO3)-नाइट्रोजन का सर्वाधिक महत्वपूर्ण ओक्सी अम्ल|इसको प्रबल जल (Aqua Fortis)कहा जाता हैं| हेलो दोस्तों आज हम नाइट्रोजन के एक ओक्सी अम्ल नाइट्रिक एसिड के बारे में बात करेंगे|इसका कई जगह उपयोग होता हैं|chemistry के प्रैक्टिकल में भी नाइट्रोजन का बहुत महत्वपूर्ण योगदान हैं|

calculate the concentration of nitric acid

प्रयोगशाला में KNO3 या NaNO3 को सान्द्र H2SO4 के साथ गर्म करने पर HNO3 प्राप्त होता हैं |

NaNO3 +H2SO4 —->NaHSO4+HNO3

HNO3 का ओधौगिक निर्माण :-

इसकी मुख्य विधियां इस प्रकार हैं |

(1) बर्कलैंड आईड विधि या आर्क

वायु को नमी तथा CO2 मुक्त करके दो कॉपर एलेक्ट्रोड़ो के मध्य विधुत आर्क में प्रवाहित किया जाता हैं|

N2 +O2⇌2NO-43.2किलो कैलोरी

2NO +O2—50 डिग्री सल्सिउस —->2NO2

NO2 + H2O—->HNO2 +HNO3

3 HNO2—->3HNO2+H2O+2NO

(2) साल्ट पीटर विधि:-

NaNO3 या KNO3 तथा 93% H2SO4 को ढलवां लोहे (CAST IRON) के रेटार्ट में गर्म करने पर HNO3 प्राप्त होता हैं|KHSO4 को रेटार्ट के पेंदे में लगी निकास नली (OUTLET PIPE) द्वारा प्रथक कर लेते हैं|

KNO3 + H2SO4—>KHSO4 +HNO3

(3) ओस्टवाल्ड विधि:-

यह HNO3 निर्माण की आधुनिक विधि हैं|इसके निम्न सोपान हैं:-

(a) NH3 का NO में ऑक्सीकरण(ऑक्सीडेशन)-

NH3 को वायु के 10 आयतनो के साथ मिलाकर Pt-Rh जाली पर 800-900°C तक गर्म किया जाता हैं|

4NH3+5O2—-Pt-Rh(800-900°C )–>4NO+6H2O +21.5 किलो कैलोरी

(b) NO का NO2 में ऑक्सीडेशन :-

प्रथम पद में प्राप्त NO में वायु मिलाकर NO2 प्राप्त होती हैं|इसको 50°C तक ठंडा किया जाता हैं|जल द्वारा शोषित करवाए जाने पर यह HNO3 देती हैं|

2NO +O2 –50°C—>2NO2

4NO2+2H2O+O2—->4HNO3

(C) HNO3 का सांद्रण :-

HNO3 जल में पूर्ण मिश्रणीय हैं|121°C पर स्थिरक्वाथी मिश्रण बनाता हैं|इस मिश्रण में 68.4% HNO3 होता हैं अत:उबालकर HNO3 का सांद्रण नहीं किया जा सकता हैं|

हाइड्रोजन क्या हैं ?2023 Right Now

अन्य लेख

Leave a Comment