tincture iodine:The Complete Beginner’s Guide to 5 Positively Impactful Preparation Methods

tincture iodine:The Complete Beginner’s Guide to 5 Positively Impactful Preparation Methods. यह practical बीएससी फाइनल इयर के माइनर और ओपन इलेक्टिव के स्टूडेंट के लिए Unit II का प्रैक्टिकल हैं | Unit I का practical इसके पहले के आर्टिकल में मिलेगा इसकी लिंक नीचे provide की जा रही हैं |

aspirin preparation from salicylic acid

tincture iodine:The Complete Beginner’s Guide to 5 Positively Impactful Preparation Methods

Aim :-प्रयोगशाला में tincture iodine का Preparation कीजिये |

1.आवश्यक सामग्री :-

पोटेशियम आयोडाइड(KI), आयोडीन ((I2) ),95% एथिल अल्कोहल, डिस्टिल्ड वाटर,

tincture iodine

tincture iodine

tincture iodine

2.सिद्धांत:-

आयोडीन टिंक्चर तैयारी का मूल सिद्धांत इस प्रकार है: पहले आयोडीन को इथनॉल में घोलकर बनाया जाता है। यह घोल दबाव और संक्षेपण के माध्यम से तैयार किया जा सकता है। इसके बाद, इस घोल को सीवन के लिए उपयोग किया जाता है।

आयोडीन टिंक्चर को सामान्यतः विभिन्न औषधिक प्रयोजनों के लिए जीवाणु निष्काशक, कीटाणुनाशक, रोगनाशक आदि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

3.बनाने की विधि :-

सबसे पहले एक साफ ओर सुखी वाच गिलास में 12.5 ग्राम KI को तौलते हैं|

tincture iodine
इसके बाद एक साफ ओर सुखी वाच गिलास में 17.5 ग्राम आयोडीन (I2) को तौलते हैं|

tincture iodine

एक measuring cylinder में 12.5 ml डिस्टिल्ड वाटर लेते हैं |

tincture iodine

एक 250 ml के volumetric flask में funnel लगाकर weight किया हुआ KI, distilled water की सहायता से मिलाते हैं |

tincture iodine

फिर इसी volumetric flask में weight किया हुआ 17.5 ग्राम आयोडीन 95% एथिल अल्कोहल की हेल्प से मिलाते हैं |

watch glass ओर funnel को 95% एथिल अल्कोहल से अच्छी तरह rinse करते हैं |

फिर इस फ्लास्क को अच्छी तरह shake करते हैं ओर completely dissolve करते हैं |

tincture iodine
tincture iodine

फिर 250 ml volumetric flask के mark तक 95% एथिल अल्कोहल पूर्णत: मिलाते हैं | इसे अच्छी तरह shake करते हैं|

tincture iodine
tincture iodine

4. Result:

इस प्रकार अब tincture आयोडीन बन चूका हैं इसे एक brown glass bottle में transfer कर लेते हैं |

5. Precaution:

सावधानियां जो आयोडीन टिंक्चर तैयार करते समय ध्यान रखने चाहिए वे यहाँ हैं:

  1. इस्तेमाल किए जाने वाले सामग्री की सही मात्रा और उचित विधि का पालन करें।
  2. इस्तेमाल होने वाले पूरे क्षेत्र में उचित वेंटिलेशन होना चाहिए।
  3. आयोडीन को हाथों या त्वचा पर लगाने से बचें, और इसे आंखों या मुँह से सीधे संपर्क से बचाएं।
  4. आयोडीन के संपर्क में आने पर तुरंत साफ पानी से धो दें।
  5. उपयोग के बाद साफ स्थान पर इसे सुरक्षित ढंक दें, ताकि यह बच्चों या अन्य अनुचित व्यक्तियों के हाथों में न आ सके।

NEET CHEMISTRY

Leave a Comment