p block elements 2023 Right Now

p block elements बहुत ही उपयोगी तत्व हैं जो periodic table spdf के अंतर्गत आते हैं।इनके गुण d and f block elements से अलग होते हैं ।periodic table block wise व्यवस्थित होते हैं।periodic table blocks में p block ncert के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।p block periodic table में विशेष गुण होते हैं।जिनके बारे में हम इस आर्टिकल में चर्चा करेंगे।

इसके पहले के आर्टिकल को पढने के लिए यहाँ पर क्लिक करें

p block elements

p block elements आवर्त सारणी के वे तत्व हैं जो Transition Metals और उपधातुओं ( Metalloids) के बीच स्थित हैं।

उन्हें इस तरह नाम दिया गया है क्योंकि वे आवर्त सारणी के p block elements से संबंधित हैं, जो इंगित करता है कि उनके वैलेंस इलेक्ट्रॉन उनके सबसे बाहरी ऊर्जा स्तर के p ऑर्बिटल्स में हैं।

p block elements के गुण:

कम melting and boiling points

वे कोमल9 soft) हैं

मुख्य ऑक्सीकरण राज्य आमतौर पर +3 है

उनके पास काफी उच्च आयनीकरण ऊर्जा है।

वे एस-ब्लॉक धातुओं (क्षार और क्षारीय पृथ्वी) की तुलना में कम प्रतिक्रियाशील हैं।

वे निर्माण में व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली सामग्री हैं।

इसका संरचनात्मक विन्यास अर्ध-सहसंयोजक है।

Aluminum, tin and lead प्राचीन काल से जाना जाता है।

p block elements:

वह p block elements आवर्त सारणी में तत्वों का एक समूह है जो 13 से 18 के समूह से संबंधित हैं। वे आवर्त सारणी के दाईं ओर स्थित हैं, बोरॉन समूह (समूह 13) से शुरू होकर Noble gases तक ( समूह 18)। इन तत्वों के वैलेंस इलेक्ट्रॉन उनके सबसे बाहरी ऊर्जा स्तर के p कक्षक में होते हैं।

Group 13 (Boron Group):

Boron (B):

कम परमाणु द्रव्यमान वाला एक उपधातु तत्व। इसका उपयोग विभिन्न industrial applications में किया जाता है, जिसमें सिरेमिक और अर्धचालक का उत्पादन शामिल है।

Aluminum (Al):

एक हल्का और अत्यधिक प्रचुर धातु जो अपने उत्कृष्ट शक्ति-से-भार अनुपात के लिए जाना जाता है। यह व्यापक रूप से निर्माण, पैकेजिंग और परिवहन उद्योगों में उपयोग किया जाता है।

Gallium (Ga):

एक नरम, चांदी की धातु जो कम तापमान पर पिघल जाती है। इसका उपयोग अर्धचालक, LEDs और मिश्र धातुओं में एक घटक के रूप में किया जाता है।

Thallium (Tl):

एक toxic, नीली-सफेद धातु जिसका उपयोग अक्सर विशेष ऑप्टिकल सिस्टम और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के उत्पादन में किया जाता है।
समूह 14 (कार्बन समूह):

Carbon (C):

एक बहुमुखी अधातु तत्व जो सभी कार्बनिक यौगिकों का आधार है। यह हीरे और ग्रेफाइट सहित विभिन्न रूपों में मौजूद है, और इसके कई industrial applications हैं।

Silicon (Si):

इलेक्ट्रॉनिक्स में व्यापक रूप से उपयोग किया जाने वाला एक अर्धचालक पदार्थ, विशेष रूप से कंप्यूटर चिप्स और सौर सेल में।
Germanium (Ge): इलेक्ट्रॉनिक्स में उपयोग किया जाने वाला एक अन्य अर्धचालक तत्व, विशेष रूप से ट्रांजिस्टर और infrared optical devices में।

Tin (Sn):

एक नरम, malleable metal जिसका गलनांक कम होता है। इसका उपयोग मिश्र धातु, सोल्डर और कोटिंग्स के उत्पादन में किया जाता है।

Lead (Pb):

एक भारी धातु जो अपनी विषाक्तता के लिए जानी जाती है। यह ऐतिहासिक रूप से निर्माण, बैटरी और various industrial applications में उपयोग किया गया है।

Group 15 (Nitrogen Group):

Nitrogen (N):

एक डायटोमिक गैस जो पृथ्वी के वायुमंडल का लगभग 78% हिस्सा बनाती है। यह जीवन के लिए आवश्यक है और विभिन्न औद्योगिक प्रक्रियाओं में इसका उपयोग किया जाता है।

Phosphorus (P):

एक अत्यधिक प्रतिक्रियाशील अधातु तत्व जो कई अलग-अलग रूपों में मौजूद होता है, जिसमें white phosphorus, red phosphorus, and black phosphorus शामिल है। यह उर्वरकों और विभिन्न रासायनिक यौगिकों का एक महत्वपूर्ण घटक है।

Arsenic (As):

धात्विक और अधात्विक दोनों गुणों वाला एक उपधात्विक तत्व। इसमें कई प्रकार के अनुप्रयोग हैं, जिनमें pesticides, alloys, and semiconductors का उत्पादन शामिल है।

Antimony (Sb):

brittle metal, मिश्र धातु और इलेक्ट्रॉनिक्स में उपयोग किया जाने वाला एक भंगुर, नीला-सफेद धातु।

Group 16 (Chalcogens):p block elements

Oxygen (O):

respiration and combustion के लिए आवश्यक colorless, odorless gas । यह इस्पात बनाने और अपशिष्ट जल उपचार सहित विभिन्न औद्योगिक प्रक्रियाओं में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

Sulfur (S):

एक पीला, brittle nonmetal जो अपनी विशिष्ट गंध के लिए जाना जाता है। इसका उपयोग सल्फ्यूरिक एसिड, उर्वरक और रबर के उत्पादन में किया जाता है।

Selenium (Se):

फोटोवोल्टिक गुणों वाला एक अर्धचालक तत्व। इसका उपयोग फोटोकॉपियर, सौर सेल और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों में किया जाता है।

Tellurium (Te):

solar cells, थर्मोइलेक्ट्रिक उपकरणों और मिश्र धातुओं के उत्पादन में उपयोग किया जाने वाला एक भंगुर, चांदी-सफेद धातु।

Polonium (Po):

एक अत्यधिक रेडियोधर्मी तत्व जो यूरेनियम अयस्कों में ट्रेस मात्रा में होता है। इसके सीमित practical applications हैं, लेकिन कभी-कभी इसका उपयोग स्थैतिक विलोपन और परमाणु अनुसंधान में किया जाता है।

Group 17 (Halogens):

Fluorine (F):

एक अत्यधिक प्रतिक्रियाशील और corrosive gas। यह फ्लोरोकार्बन, टूथपेस्ट और पानी के फ्लोराइडेशन के उत्पादन में व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है।

Chlorine (Cl):

तेज गंध वाली हरी-पीली गैस। यह एक कीटाणुनाशक के रूप में, पीवीसी के उत्पादन में और विभिन्न रासायनिक प्रक्रियाओं में उपयोग किया जाता है।

Bromine (Br):

एक reddish-brown liquid जो एक हानिकारक वाष्प बनाने के लिए आसानी से वाष्पित हो जाता है। इसका उपयोग flame retardants, फार्मास्यूटिकल्स और कृषि रसायनों में किया जाता है।

Iodine (I):

एक चमकदार, बैंगनी-काला ठोस जो वायलेट वाष्प में उर्ध्वपातित हो जाता है। यह थायराइड हार्मोन उत्पादन के लिए एक आवश्यक तत्व है और इसका उपयोग एंटीसेप्टिक्स और रंगों में किया जाता है।

Astatine (At):

limited applicationsके साथ अत्यधिक रेडियोधर्मी तत्व। यह मुख्य रूप से वैज्ञानिक अनुसंधान में प्रयोग किया जाता है।

Group 18 (Noble Gases):p block elements

Helium (He):

एक रंगहीन, गंधहीन गैस जो अपने कम घनत्व के लिए जानी जाती है। इसका उपयोग cryogenics में, coolant in MRI machines के रूप में और balloons में किया जाता है।

Neon (Ne):

एक रंगहीन गैस जो विद्युतीकृत होने पर एक विशिष्ट लाल-नारंगी चमक उत्सर्जित करती है। इसका उपयोग used in lighting, विज्ञापन संकेतों और लेज़रों में किया जाता है।

Argon (Ar):

एक रंगहीन और गंधहीन गैस जो chemically inert होती है। यह आमतौर पर वेल्डिंग में एक परिरक्षण गैस के रूप में और विभिन्न उद्योगों में एक protective atmosphere के रूप में उपयोग किया जाता है।

Krypton (Kr):

एक रंगहीन, गंधहीन गैस जिसका उपयोग कुछ प्रकार के प्रकाश में किया जाता है, जैसे कि high-intensity discharge lamps.

Xenon (Xe):

उच्च प्रकाश उत्सर्जक दक्षता वाली एक भारी, रंगहीन गैस। इसका उपयोग विशेष प्रकाश व्यवस्था, लेजर और medical imaging में किया जाता है।

Radon (Rn):

एक highly radioactive gas जो प्राकृतिक रूप से यूरेनियम के क्षय उत्पाद के रूप में होती है। यह अपनी रेडियोधर्मिता के कारण स्वास्थ्य जोखिम पैदा करता है और इसका मुख्य रूप से scientific researc में उपयोग किया जाता है।

p block elements

Leave a Comment