functional tests 1 group right now

functional tests 1 group right now.यह ब्लॉग बी.एससी.प्रथम वर्ष के माइनर/इलेक्टिव subject के chemistry प्रैक्टिकल से रिलेटेड हैं.यह 6th प्रैक्टिकल हैं.इस प्रयोग में किसी आर्गेनिक compound को लैब में systematic परिक्षण करके पहचान करते हैं.

functional tests 1 group right now

दिए गए कार्बनिक यौगिक का क्रमबद्ध परीक्षण कर पहचान करो-4

लैब में किसी कार्बनिक यौगिक की पहचान करने के लिए इसका सिलसिलेवार परिक्षण करना पड़ता हैं.सबसे पहले फिजिकल रूप से compound को पहचाना जाता हैं.इसे इस प्रकार लिख जाता हैं:-

फिजिकल स्टेट :-

कलर –स्वेत क्रिस्टलिय

गंध — विशिष्ट गंध

विलेयता –जल में अल्प घुलनशील

ज्वलन परिक्षण–काले धूम्र के साथ जलता हैं( एरोमेटिक यौगिक)ज्वलन परिक्षण के लिए एक ग्लास रॉड पर यौगिक लेकर उसे गर्म करते हैं यदि स्वेत धूम्र के साथ जलता है तो ऐलिफैटिक यदि काले धूम्र के साथ जलता हैं तो एरोमेटिक यौगिक होता हैं.दिया गया compound काले धूम्र के साथ जाता हैं अत:यह एरोमेटिक यौगिक हैं.

functional tests 1 group right now

तत्वों का परिक्षण :-

दिया गया यौगिक एरोमेटिक हैं अब यह पता करना हैं कि इसमें कोई विषम तत्व हैं या नहीं इसके लिए तत्वों का परिक्षण करते हैं.इसके लिए सोडियम निष्कर्ष बनाके इसके तीन भाग करते हैं.और इन तीन भागों से N,Sऔर हलोजन का परिक्षण करेंगे.

functional tests 1 group right now

सोडियम निष्कर्ष बनाने क विधि:-

सूखी सोडियम धातु के एक छोटे टुकड़े को कार्बनिक यौगिक के साथ फ्यूजन ट्यूब में 2-3 मिनट के लिए गर्म किया जाता है और लाल गर्म ट्यूब को चाइना डिश में निहित आसुत जल में डुबोया जाता है। चाइना डिश में निहित सामग्री को उबालकर ठंडा करके छान लिया जाता है।इसे ही सोडियम निष्कर्ष कहते हैं. इस सोडियम निष्कर्ष के तीन भाग करते हैं.और इसी के द्वारा N,S और हलोजन का परिक्षण करते हैं.

functional tests 1 group right now

क्रमांकप्रयोगअवलोकन निष्कर्ष
1.सोडियम निष्कर्ष के एक भाग में ताजा बना FeSO4 विलियन मिलाया फिर इसमें सांद्र H2SO4 के साथ अम्लीकृत किया जाता है।

प्रशिया नीला रंग नहीं आता हैं.नाइट्रोजन की अनुपस्थित

को इंगित करता है।

2.सोडियम निष्कर्ष के दुसरे भाग मेंसोडियम

नाइट्रोप्रासाइड की कुछ बुँदे मिलाते हैं.

बैंगनी रंग नहीं आया सल्फर की अनुपस्थिति को दर्शाता है।
3.सोडियम निष्कर्ष के तीसरे भाग मे तनु HNO3 मिलाते हैं.और फिर इसमें AgNO3 मिलाते हैं. सफेद अवक्षेप नहीं आता हैं.Cl अनुपस्थित हैं.

दिए गए यौगिक में कोई भी तत्व उपस्थित नहीं हैं.इसके आगे यह पता करना हैं कि इसमें क्रियात्मक समूह कोनसा हैं.चूँकि यौगिक एरोमेटिक हैं और इसमें कोई भी तत्व उपस्थित नहीं हैं. इसलिए हम ऐसे क्रियात्मक समूह का टेस्ट लगायेंगे जो एरोमेटिक हो एवं कोई भी तत्व उपस्थित नहीं हो.

functional tests 1 group right now

क्रियात्मक समूह का परिक्षण

अवलोकन सारणी

क्रमांकप्रयोगअवलोकन निष्कर्ष
1.यौगिक के जलीय विलयन में NaHCO3 मिलायासनसनाहट,बुदबुदाहट के साथ CO2 गैस निकलती हैं.यह कार्बोक्सीलीक की उपस्थिति को कन्फर्म करता हैं.

-COOH

अब हमें यह पता चल गया हैं कि दिया यौगिक में क्रियात्मक समूह कार्बोक्सीलीक समूह उपस्थित हैं.अत:यह यौगिक बेन्ज़ोइक अम्लहो सकता हैं.

विशिष्ट परिक्षण:-

अवलोकन सारणी

क्रमांकप्रयोगअवलोकन निष्कर्ष
पदार्थ के अम्ल के 1 cc उदासीन विलयन में 3-4 बुँदे FeCl3की डाली .

हलके भूरे रंग का(आयरन बेन्जोएट ) अवक्षेप आता हे जो तनु HCl में विलय हैं.यह बेन्ज़ोइक अम्ल की उपस्थिति को कन्फर्म करता हैं.

C6H5COOH

अब हम 95% कन्फर्म हो गए हैं कि दिया यौगिक बेन्ज़ोइक अम्ल हैं.इसे और कन्फर्म करने के लिए इसका मेल्टिंग point निकालते हैं.जो 122.4 °C आता हैं.

परिणाम:-दिया गया कार्बनिक यौगिक बेन्ज़ोइक अम्ल(C6H5COOH) हैं.

synthesis of aspirin: 5 Powerful Steps to Master DIY Creation!

NEET CHEMISTRY

Leave a Comment