Full Derivation Beer Lambert Law/अवशोषण लॉ -लैम्बर्ट्स बीयर लॉ

Full Derivation Beer Lambert Law.इस ब्लॉग में बी.एससी second-year के organic chemistry की first यूनिट के imp topic-beer lambert law का explanation किया जायेगा।Chemistry की वह branch जिसमे light radiation के absorption से संपन्न प्रकाश chemical rx के वेग ,उनकी mechanism आदि की study की जाती हैं,photochemistry कहलाती हैं।

Full Derivation Beer Lambert Law/अवशोषण लॉ -लैम्बर्ट्स बीयर लॉ

Photochemistry में उन chemical changes की study की जाती हैं। जिनमे प्रकाश radiation के uv व visible region (200nm से 800 nm) की radiation का absorption किया जाता हैं।

वे chemical Rx जो प्रकाश radiation के फोटोन के absorption से संपन्न होती हैं,photochemical Rx कहलाती हैं।

इन Rx में absorption molecule or atom Photon absorption से active energy प्राप्त करते हैं।एवं excited state में पहुंचकर Rx संपन्न करते हैं।

द्रव्य के ऊपर प्रकाश radiation को डाला जाता हैं तो यह तीन प्रकार से distribute हो जाती हैं।

1.reflectedlight (Ir)

2. transmitted light (It)

3. absorb light (Ia)

अत: I0 = Ir + It + Ia

Photochemistry में फोटोन के law of absorption से reactant molecule excited हो जाते हैं अत:photochemistry में प्रकाश के absorption(beer lambert law) भाग की ही study की जाती हैं।

beer law-जब किसी homogenous अवशोषण माध्य से एकवर्णी light को गुजारा जाता हैं तो अवशोषण माध्य की मोटाई के साथ रेडिएशन की तीव्रता में हुई कमी आपतित विकिरण की तीव्रता के समानुपाती होती हैं।

how is beer lambert law used in spectroscopy

ultraviolet spectrum (electronic spectra) की plotting प्राय: wavelength और absorbance के मध्य ग्राफ खीचकर किया जाता हैं।absorbance ,absorbed radiation की energy की quantity का measurement होता हैं।

यदि sample में प्रवेश करने वाली radiation की intensity IR/I0 और sample से बाहर निकलने वाली radiation की intensity Is या I हो,तो absorbance A को I R/IS or I0/I ratio के logarithm से Express किया जाता हैं।

अत: I R/IS ratio जितना high होगा absorbanceउतना ही बड़ा होगा और absorbed radiation की energy भी उतनी high होगी। इसे log I R/IS  के रूप में भी Express किया जा सकता हैं।

जहाँ reference सेल में से होने वाली transmitted किरण पुंज की intensity तथा Is compound के विलयन युक्त सेल में से transmitted किरण पुंज की intensity हैं।

जिस wavelength पर highest absorption होता हैं उसे λmax Highhest)कहते हैं।

अत: absorbance , A= log (I0/I)

किसी दी हुई wavelength पर absorbance, radiation-path में विधमान molecules की संख्या पर depend करता हैं।

beer lambert law

lambert law definition के law के according incident और transmitted light की intensity उस solution के concentration एवं length के साथ सम्बंधित होती हैं,जिसमे से होकर light गुजरती हैं।

mathematical form में इसे निम्न derivation के द्वारा Express किया जाता हैं।

यह derivation beer lambert lawstatement का गणितीय प्रस्तावना हैं।

अत: absorbance, concentration तथा प्रकाश path की length में सम्बन्ध beer lambert lawकहलाता हैं।

A=e.c.l

Absorbance, log I0/I = e.c.l

Molar absorptivity e= log I0/I /cl =A/el

जबकि

IR = incident radiation की intensity

Is = transit radiation की intensity

E = घुलित पदार्थ का molar concentration

I = उस सेल की cm में length जिसमे solutionभरा हुआ हैं

E= Molar absorptivity।

यह किसी wavelength की दी हुई सांद्रता पर अवशोषकता की सीमा को प्रकट करती हैं अर्थात spectrum में absorption rule band की height से related रहती हैं।

उपर्युक्त derivation में log I0/I को विलयन का absorbance (A) तथा Log I/ I0 को विलयन का पारगमनांक T कहते हैं।

स्पेशल ऑफर

credit to amazon

इस किताब का आधार यह हैं की धन संपत्ति के मामले में आप कितना अच्छा प्रबंधन करते हैं,यह इस पर कम निर्भर करता हैं कि आप कितने होशियार हैं और इस पर ज्यादा कि आपका व्यवहार कैसा हैं|और व्यवहार सिखाना कठिन कार्य हैं,उन्हें भी जो ज्यादा होशियार हैं|

इस पुस्तक को खरीदने के लिए नीचे Buy Now पर क्लिक करे|या फोटो पर क्लिक करे|

Buy Now

Leave a Comment