BSc Chemistry Spectroscopy In Hindi

BSc Chemistry Spectroscopy In Hindi
BSc Chemistry Spectroscopy In Hindi

BSC Chemistry Spectroscopy In Hindi.यह टॉपिक बीएससी प्रथम वर्ष (NEP 20) के मेजर II पेपर/माइनर/ओपन इलेक्टिव के स्टूडेंट के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण प्रश्न हैं|यह यूनिट 6 का एक चैप्टर हैं|इसके अंतर्गत  यहाँ पर एक प्रश्न का हल मिलेगा,जो एग्जाम में अक्सर आता हैं |इसके लिए एक प्रश्न नीचे दिया हैं जिसका उत्तर आपको यही मिलेगा|

BSc Chemistry Spectroscopy In Hindi

Spectroscopy से आप क्या समझते हैं ?IR Spectroscopy से क्या  सूचनाएं प्राप्त होती हैं ?

 Spectroscopy-

विज्ञान की वह शाखा हैं,जिसके अंतर्गत electromagnetic radiation का द्रव्य(Substance)  के साथ Interaction Reaction(अन्योंन क्रिया ) का अध्ययन किया जाता हैं|अब डिफरेंट टाइप की electromagnetic radiation द्रव्य (Substance) के साथ Interaction करती हैं तो भिन्न प्रकार की Spectroscopy प्राप्त होती हैं|

electromagnetic radiation
electromagnetic radiation

उदाहरण(example) :-

  1. Radio Frequency परिसर (Range) में electromagnetic radiation (EMR) से Nuclear Magnetic Resonance(NMR) या Electron Spin Resonance (ESR) स्पेक्ट्रोस्कोपी प्राप्त होती हैं
  2. Visible and Ultraviolet क्षेत्र में परमाणु तथा अणुओ में Electronic Transition होते हैं इसलिए इसे Electronic Spectroscopy कहते हैं|
  3. Infrared क्षेत्र के अणु द्वारा Radiation  के अवशोषण (Absorbtion) से molecular vibration उत्पन्न होते है इसलिए इसे Vibration Spectroscopy कहते हैं |
  4. Microwave क्षेत्र के अणु के Rotating स्तरों के Separation से Rotational Spectroscopy प्राप्त होती हैं |
  5. Y-किरणें (Ray)लघुतम Wavelength की किरणें हैं,जो Nuclear  कणों में Rearrangement उत्पन्न करती हैं| ये किरणें Radio Active  तत्वों जैसे -Ra,U आदि के नाभिक से उत्पन्न होती हैं|
  6. X -किरणें क्षेत्र में  उच्च गति के  Electron Metal  Target से टकराकर उत्पन्न करते हैं|

IR Spectroscopy से क्या  सूचनाएं प्राप्त होती हैं ?

इसकी  अनेक Application हैं जैसे  इसकी हेल्प से किसी Reaction की Kinetic का अध्ययन Successfully किया जा सकता हैं |इसी प्रकार किसी Compound की Purity का Measurement, hydrogen bonding,Resolution इत्यादि का भी अध्ययन IR Spectroscopy के द्वारा किया जा सकता हैं |

इसका उपयोग Carbon अणु में Functional group और Bonding Vibration करते हैं| Vibration की एक Frequency होती हैं जो अणु के अन्य भाग से अप्रभावित  रहती हैं| इसलिए या समूह अपनी Characteristic कम्पन आवृति के Absorption प्रदर्शित करते हैं|

Functional  Groups के लिए Characteristic  Absorption Band या शिखर (Peaks) होते हैं| प्रत्येक band की एकcharacteristic Frequency होती हैं जिससे क्रियात्मक समूह की पहचान की जा सकती हैं |

उदाहरण के लिए -सभी Organic Compound जिनमे Carbonyl group होता हैं वे सभी C=O तनन कम्पन(Tensile Vibration) के लिए 710 cm-1 एक Strong Band  show करते हैं|

अत:यदि किसी Compound के स्पेक्ट्रम में 1710cm-1 वाइब्रेशन आवृति का बैंड मिलता हैं,तो यह संकेत मिलता हैं कि इस Compound में कार्बोनिल समूह  उपस्थित हैं|

यदि कम्पन आवृति पर बैंड प्राप्त नहीं होता हो तो समूह अनुपस्थित माना जाता हैं|इसी प्रकार 3600 cm-1 कम्पन आवृति पर प्रबल बैंड अल्कोहल के -OH क्रियात्मक समूह की उपस्थित को प्रदर्शित करता हैं|

Ir स्पेक्ट्रम की व्याख्या करने के लिए कोई विशेष नियम नहीं हैं किन्तु सामान्य प्रेक्षण इसकी व्याख्या करने में लाभदायक होते हैं|

(i) हमेशा  स्पेक्ट्रम के high frequency  वाले कार्नर से प्रारंभ करना चाहिए तथा finger print field(4,000-1250cm-1) को केवल संपुष्टि के लिए प्रयोग करना चाहिए|उदाहरण,5.83 µm(1,718cm-1)पर एक तीव्र बैंड C=O समूह की उपस्थिति प्रदर्शित करता हैं| यह -CHO,>C=O,acid,ester,amide के रूप में हो सकता हैं|
(ii)सम्पूर्ण spectrum की व्याख्या करना आवश्यक नहीं हैं,कुछ ही bands से important इनफार्मेशन प्राप्त हो जाती हैं|

(iii)किसी फील्ड विशेष में absortion band की अनुपस्थिति पर अधिक ध्यान देना चाहिए| उदाहरण यदि,1,800 -1600 cm-1 पर कोई absortion band प्राप्त नहीं होता हैं,तो उसका अर्थ carbonyl group की अनुपस्थिति से हैं|

(iv) किसी group की उपस्थिति में किसी अन्य group का absorption band विस्थापित हो सकता हैं conjugation,hydrogen bonding,aromatic ring आदि की उपस्थिति absoptionband के मूल स्थान को विस्थापित कर देती हैं| उदाहरण-acyclic ketone absorption band 1,725-1,750cm-1 पर प्रदर्शित करते हैं किन्तु aromatic ketone में यह wave number 30 cm-1 कम हो जाती हैं |

acetophenone C=O absorption band 1,690 cm-1 पर प्रदर्शित करता हैं| cyclopentanone absorption band 1,750 cm-1पर प्रदर्शित करता हैं जिससे यह प्रकट होता हैं कि ring size में कमी होने पर carbonyl streching vibration की frequency बढ़ जाती हैं |esters में carbonyl streching frequency ketone की अपेक्षा अधिक होती हैं | यह frequency >C=O group के साथ-साथ conjugation,unsaturation और ring के size पर depend रहती है|

other article

स्पेशल ऑफर 

credit to amazon

इस किताब का आधार यह हैं की धन संपत्ति के मामले में आप कितना अच्छा प्रबंधन करते हैं,यह इस पर कम निर्भर करता हैं कि आप कितने होशियार हैं और इस पर ज्यादा कि आपका व्यवहार कैसा हैं|और व्यवहार सिखाना कठिन कार्य हैं,उन्हें भी जो ज्यादा होशियार हैं|

इस पुस्तक को खरीदने के लिए नीचे Buy Now पर क्लिक करे|या फोटो पर क्लिक करे|

Buy Now

इस वेबसाइट पर बी.एससी. प्रथम से लेकर बी.एससी. तृतीय वर्ष chemistry के सारे टॉपिक और प्रैक्टिकल, आल सिलेबस,इम्पोर्टेन्ट प्रशन,सैंपल पेपर, नोट्स chemistry QUIZ मिलेंगे.B.SC.प्रथम वर्ष से लेकर तृतीय वर्ष तक के 20-20 QUESTION के हल मिलेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*